Airplane Mode Kya hota hai ?

आप चाहे मोबाइल का यूज करते हैं या फिर लैपटॉप का, Airplane Mode सभी में होता है। बेशक आपको इस function के बारे में पता भी होगा। अगर आपने कभी प्लेन में सफर किया है तो आपको मालूम होगा कि प्लेन के अंदर आपसे एयरप्लेन मोड को ऑन करने को बोला जाता है।

Airplane Mode Kya hota hai ?

अब आपके मन में ये सवाल जरूर आता होगा कि आखिर प्लेन के अंदर एयरप्लेन मोड को क्यों ऑन किया जाता है ? लेकिन उससे पहले आपको ये जानना जरूरी है कि एयरोप्लेन मोड क्या होता है ? ये क्या काम करता है ? इन सवालों का जवाब इस पोस्ट के माध्यम से हम आप तक पहुंचाना चाहते हैं।

Airplane Mode क्या होता है ?

एयरप्लेन मोड को फ्लाइट मोड, एयरोप्लेन मोड भी कहते हैं। इसका नाम पड़ने की वजह कई एयरलाइन का वायरलेस डिवाइस को प्लेन के अंदर allow न करने से है।

एयरप्लेन मोड आपके मोबाइल या लैपटॉप में मौजूद एक फीचर है जोकि आपके डिवाइस के Cellular कनेक्शन, WiFi, Bluetooth को डिसेबल कर देता है। अगर एयरोप्लेन मोड इनेबल है, तो आप न ही कॉल कर पाएंगे और न ही किसी को टेक्स्ट मैसेज भेज पाएंगे। इसके अलावा आप इंटरनेट का भी यूज नहीं कर पाएंगे।

Aeroplane Mode Kya karta hai

एयरप्लेन मोड का काम हर डिवाइस के लिए एक ही है चाहे आप एंड्रॉयड, आईफोन या विंडोज किसी भी डिवाइस का यूज करते हैं। ये function डिसेबल हो जाएंगे :-

Cellular Network आपका फोन हमेशा Cell Tower से कनेक्शन खोजता रहता है। फ्लाइट मोड इसे रोक देता है, जिससे आप न तो कॉल कर पाएंगे और न ही टेक्स्ट भेज पाएंगे।

WiFi – ये आपके फोन को वाईफाई नेटवर्क स्कैन करने से रोक देगा। अगर आपका फोन किसी WiFi नेटवर्क से कनेक्ट है, तो वह डिसेबल हो जाएगा।

Bluetooth – अगर आपका ब्लूटूथ ऑन है तो वह डिसेबल हो जाएगा। कई डिवाइस में आप मैनुअली ब्लूटूथ को दोबारा से एनेबल कर सकते हैं।

लेकिन मॉडर्न डिवाइस में अगर आप ब्लूटूथ डिवाइस से कनेक्ट रहकर एयरोप्लेन मोड ऑन करते हैं, तो भी आपका कनेक्शन नहीं टूटता है।

अगर GPS की बात करें, तो वो किसी रेडियो वेव को ट्रांसमिट नहीं करता है। आपकी डिवाइस के हिसाब से एयरप्लेन मोड में जीपीएस डिसेबल हो भी सकता है और नहीं भी।

प्लेन में Airplane Mode क्यों ऑन किया जाता है

  • आजकल कई एयरलाइंस आपको प्लेन के अंदर खुद का वाईफाई भी provide करती हैं।

जब आप प्लेन में सफर करते हैं तो आपसे अपने मोबाइल को Airplane Mode में रखने को कहा जाता है। इसके पीछे की वजह आपके मोबाइल से निकलने वाला सिग्नल है। आपके मोबाइल से हमेशा radio waves और Electromagnetic Interference अर्थात् EMI उत्सर्जित होती रहती हैं।

जब आप फ्लाइट में होते हैं और फ्लाइट Take off करती है, तब आपके मोबाइल और टेलीफोन टावर के बीच की दूरी बढ़ने लगती है। ऐसी स्थिति में आपका फोन लगातार टॉवर से कनेक्शन खोजता रहता है।
ऐसे में अधिक दूरी के चलते जब आपका मोबाइल टावर से कनेक्शन नहीं पाता है, तब वह और भी तीव्र गति से स्ट्रॉन्ग इलेक्ट्रिक सिग्नल भेजता है।

यह सिग्नल aircraft के कम्युनिकेशन डिवाइस में अवरोध पैदा करता है। जिससे पायलट को एयर ट्रैफिक कंट्रोल से कम्युनिकेट करने में परेशानी होती है।

Airplane Mode के अन्य फायदे

आप सोच रहे होंगे कि ये सब तो ठीक है पर हमे एयरप्लेन मोड के और क्या क्या फायदे हैं। आइए जानें :-

  1. अगर आप किसी काम पर फोकस करना चाहते हैं तो एयरप्लेन मोड इनेबल करना आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। इससे आप distraction से बच पाएंगे क्योंकि कोई भी नोटिफिकेशन और आवाज आपके मोबाइल से नहीं आएगी।
  2. यदि आपके मोबाइल की बैटरी खत्म होने वाली है तो आप फ्लाइट मोड को ऑन कर सकते हैं। ये आपकी मोबाइल बैटरी save करने में मदद करता है। इसके अलावा मोबाइल तेजी से चार्ज भी होता है।
  3. जब आपको मोबाइल छोटे बच्चों को देना हो तो एयरप्लेन मोड ऑन कर देना चाहिए। इससे वे किसी को भी अनजाने में कॉल या मेसेज नहीं कर पाएंगे।

क्या Airplane Mode बैटरी Save करता है ?

हां, एयरप्लेन मोड में बैटरी की बचत होती है।

क्या एयरप्लेन मोड में WiFi काम करता है ?

ये आपकी डिवाइस पर निर्भर करता है। लेकिन मॉडर्न मोबाइल में आप वाईफाई का इस्तेमाल फ्लाइट मोड के दौरान कर सकते हैं।

क्या एयरोप्लेन मोड में ब्लूटूथ काम करता है ?

ब्लूटूथ भी मॉडर्न डिवाइस में काम करता है एयरप्लेन मोड के दौरान।

क्या अलार्म एयरप्लेन मोड में काम करेगा ?

चूंकि, अलार्म के लिए इंटरनेट की आवश्यकता नहीं होती। इसलिए फ्लाइट मोड में भी अलार्म सामान्य रूप से काम करता है।

क्या एयरोप्लेन मोड data का यूज करता है ?

Airplane Mode में मोबाइल डाटा डिसेबल रहता है। इसलिए data की खपत नही होती है।

Airplane Mode में कॉलर को क्या सुनाई देगा ?

एयरप्लेन मोड में अगर आपको कोई कॉल करता है तो उसे आपका मोबाइल switch off बताता है।

आने वाले समय में हो सकता है कि Cellular Network भी प्लेन में उपलब्ध हो जाएगा। अगर आप प्लेन में सफर करते हैं तो ध्यान से Airplane Mode एनेबल कर लेना चाहिए। ये आपकी ही सुरक्षा के लिए कहा जाता है। क्योंकि बहुत से एयरलाइन अब वाईफाई की सुविधा देने लगी हैं तो आपको ज्यादा दिक्कत भी नहीं होती है।

More to Read :-

Spread the love

Leave a Comment

%d bloggers like this: